अवैध तरीके से रेमडेसिवर इंजेक्शन बेचने वाले 3 गिरफ्तार

अवैध तरीके से रेमडेसिवर इंजेक्शन बेचने वाले 3 गिरफ्तार

गुरुग्राम । गुरुग्राम के एक प्रमुख निजी अस्पताल में काम करने वाले दो पुरुष नसिर्ंग स्टाफ को गुरुग्राम के सेक्टर-52 से अस्पताल से रेमडेसिवर इंजेक्शन चोरी करने और अवैध रूप से ज्यादा कीमत पर बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।मुख्यमंत्री के एक दल ने फ्लाईग स्कैड और ड्रग कंट्रोलर विभाग की मदद से इन आरोपियों को पकड़ा।

ड्रग कंट्रोलर अधिकारी अमनदीप चौहान ने कहा, "हमने चेतन कपूर नाम के शख्स को पकड़ लिया है, जो गुरुग्राम के मैक्स अस्पताल में स्टाफ नर्स के रूप में काम करता था। उसका सहयोगी नितिन जोस जो गुरुग्राम के नारायणा अस्पताल में एक नसिर्ंग स्टाफ के रूप में काम करता है और उनकी पत्नी लीमा ओमेन भी इंजेक्शनों के बाजार में शामिल थीं।"

 

उन्होंने कहा कि उन्हें रविवार को सूचना मिली कि एक गिरोह सेक्टर -52 इलाके में रेमडेसिवर इंजेक्शन बेच रहा है। उन्होंने कहा, "हमारी टीम ने विवरणों को सत्यापित किया और उन्हें चेतन के बारे में पता चला। ग्राहकों को भेजने के बाद एक जाल बिछाया गया और तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया। दोषियों के कब्जे से पांच रेमडेसिवर इंजेक्शन बरामद किए गए।"

 

पूछताछ के दौरान, नितिन ने कहा कि वह जल्दी पैसा कमाने के लिए अस्पताल से इंजेक्शन चोरी कर रहा था। एक अधिकारी ने कहा, "उसने चेतन से कहा कि बाजार में इंजेक्शन बेचने के लिए कहा। वे इसे वर्तमान में 45,000 रुपये में बेच रहे थे।"

उनके खिलाफ ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक एक्ट, महामारी रोग अधिनियम और गुरुग्राम के सेक्टर-53 पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस ने कहा कि आरोपी को आगे की कानूनी कार्यवाही के लिए स्थानीय अदालत में पेश किया जाएगा।

NewsPoint