अपने ही पार्टी पर जमकर बरसे विधायक,राजनीति सरगर्मी हुई तेज

अपने ही पार्टी पर जमकर बरसे विधायक,राजनीति सरगर्मी हुई तेज

सतना। हमेशा अपने बयान से सुर्खियों में रहने वाले बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी  ने एक बार फिर बड़ा बयान दिया है। जहां उन्होंने अपनी ही पार्टी को घेरने का काम किया है। बीजेपी विधायक के बयान के बाद एक बार फिर से प्रदेश की सियासत में बया बाजी देखने को मिल सकती है।

दरअसल सतना जिले के मैहर से बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने एक सभा में कहा कि 25 मार्च को विंध्य प्रदेश बनाने के लिए आयोजन होना है। जिससे डरकर शिवराज सरकार लोगों को कोरोना से डरा रही है। जिले के रामस्थान में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए बीजेपी विधायक त्रिपाठी ने कहा कि अगले चुनाव में टिकट मिलने को लेकर उन्हें किसी भी तरह की चिंता नहीं है।

इतना ही नहीं सख्त तेवर अपनाते हुए विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि सरकार आखिर कब तक कोरोना का डर बता कर लोगों का खून चूसती रहेगी। जब भी सरकार के विरुद्ध आंदोलन की बात उठती है। सरकार आंदोलन को कुचलने का प्रयास करने लगती है और इसके लिए कोरोना का भय दिखाया जाता है। जब कोई काम करना होता है। वही कोरोना आ जाता है


इतना ही नहीं सख्त तेवर अपनाते हुए विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि सरकार आखिर कब तक कोरोना का डर बता कर लोगों का खून चूसती रहेगी। जब भी सरकार के विरुद्ध आंदोलन की बात उठती है। सरकार आंदोलन को कुचलने का प्रयास करने लगती है और इसके लिए कोरोना का भय दिखाया जाता है। जब कोई काम करना होता है। वही कोरोना आ जाता है।
त्रिपाठी ने कहा कि मुझे प्रदेश की जनता ने चुनाव जिताया है, किसी पार्टी ने नहीं। मैं जब तक विंध्य में हूं। विंध्य की मांग उठाता रहूंगा। बीजेपी विधायक ने बगावती सुर अपनाते हुए कहा की विंध्य प्रदेश की मांग कई सालों से की जा रही है लेकिन अब तक सरकार मामले पर कुछ भी कहने को तैयार नहीं है। उल्टा मुझे ही समझाया जा रहा है कि सत्ता में दो ही साल हुए हैं। आराम से सत्ता का सुख भोगे। बगावती ना बनें।

बीजेपी विधायक ने कहा कि 25 मार्च को विंध्य प्रदेश बनाने के लिए एक जनसभा का आयोजन होना है। जिससे सरकार हिल गई है। सरकार घबराने लगी है और इसलिए अब सतना जिले में भी कोरोना के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी देखी जा रही है। 25 मार्च की सभा रोकने के लिए सरकार पूरी ताकत लगाएगी। बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि आखिर बकरे की अम्मा, कब तक खैर मनायेगी। इस सभा को रोकने के लिए सरकार चाहे तो प्रयास कर सकती है। वहीं सरकार के रवैए के प्रति सख्त रुख अपनाते हुए बीजेपी विधायक ने कहा हमारा विंध्य प्रदेश हमें नहीं देना है, ना दे। लेकिन हम सरकार का खेल खत्म कर देंगे। यहां कोरोना का नाटक नहीं चलने वाला।