घर-घर पहुंच रहा रानी का लड्डू और झाड़ू...क्या हो जाएगा इस बार बेड़ा पार.. ?

घर-घर पहुंच रहा रानी का  लड्डू और झाड़ू...क्या हो जाएगा इस बार बेड़ा पार.. ?
घर-घर पहुंच रहा रानी का  लड्डू और झाड़ू...क्या हो जाएगा इस बार बेड़ा पार.. ?

नोखी आवाज़ सिंगरौली। (सीमा चतुर्वेदी) नगरी निकाय चुनाव की तिथि अभी तय नहीं हुई है लेकिन राजनीतिक दल पूरी तैयारी करके बैठे हैं। ऐसे में आम आदमी पार्टी का वही रूप देखने को मिल रहा है जो रूप बीते विधानसभा चुनाव में देखने को मिला था। मतलब यह है कि नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत घर-घर लड्डू झाड़ू बांटे जा रहे हैं। झाड़ू व लड्डू वितरण के लिए बकायदा गाड़ी लगाई गई है। सूत्र तो यह भी बताते हैं कि मजदूर लगाकर हर घर झाड़ू और लड्डू पहुंचाने की कवायद तेज हो गई है। लेकिन क्या झाड़ू और लड्डू से "आप" का बेड़ा पार हो जाएगा?

बीते विधानसभा चुनाव में भाजपा विधायक राम लल्लूवैश्य के चेहरे पर कुछ समय के लिए मायूसी ला देने वाली रानी अग्रवाल इस बार लगता है मेयर की कुर्सी के लिए मैदान में उतर सकती हैं। हालांकि अभी इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन "आप" पर नजर दौड़ाई जाए तो स्पष्ट होता है कि रानी से बेहतर विकल्प और नहीं है।

इसलिए समझ आता है कि बिना कोई खतरा मोल लिए रानी अग्रवाल स्वयं मैदान में होंगी। अभी नगरीय निकाय चुनाव को लेकर तमाम तरह की असमंजस की स्थिती बनी हुई है। जिसका भरपूर फायदा उठाकर रानी अग्रवाल व उनके समर्थक घर-घर लड्डू झाड़ू पहुंचाने के काम मे जुट गए है। अब देखना यह होगा कि झाड़ू लड्डू के सहारे क्या इस बार रानी अग्रवाल के सर पर मेयर का ताजपोशी हो पाती है अथवा अरमानों पर पानी फिर जाता है। ऐसा इसलिए क्योकि कई जगह झाड़ू-लड्डू बांटने पहुची टीम को विरोध का सामना करना पड़ा।