आज शनि अमावस्या, जानिए शनि देव को प्रसन्न करने के आसान उपाय

आज शनि अमावस्या, जानिए शनि देव को प्रसन्न करने के आसान उपाय

नोखी आवाज न्यूज़ डेस्क। शनिवार को पड़ने वाली अमावस्या को शनि अमावस्या कहा जाता है। यह दिन उन लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है जो न्याय के देवता शनि की प्रकोप से बचना चाहते हैं या जिनकी कुंडली में शनि की साढ़ेसाती या शनि की ढय्या है। 13 मार्च, शनिवार को फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या है। 12 मार्च को 15:04:32 से अमावस्या आरंभ हुई है, जो 13 मार्च को 15:52:49 बजे तक रहेगी। शनिश्चरी अमावस्या के दिन की गई शनि की आराधना का फल अवश्य मिलता है। पितृ दोष से भी मुक्ति के उपाय किए जाते हैं। इस दिन नदियों में स्नान के साथ ही दान धर्म का विशेष महत्व बताया गया है। इस दिन शनि देव को प्रसन्न कर नौकरी में उन्नति, व्यापार में वृद्धि, घर-परिवार में सुख शांति प्राप्त की जा सकती है। 

जानिए Shani Amavasya के दिन किए जाने वाले उपायों के बारे में

शास्त्रों में उल्लेख है कि इस दिन शनि मंदिर का दर्शन अवश्य करना चाहिए और शनि देव को तेल चढ़ाना चाहिए। शनि अमावस्या के दिन ॐ शं शनैश्चराय नमः का जाप करें और शनि चालीसा का पाठ करें। जिन लोगों की कुंडली में शनि की दशा ठीक नहीं है, वे इस दिन पीपल और शमी के पेड़ की पूजा करें। पीपल के पेड़ के नीचे तेल का दीपक लगाने से जीवन की हर बाधा दूर हो सकती है।

Shani Amavasya के दिन किसी का बुरा न करें। कोई ऐसी बात न करें, जिससे दूसरों का आघात पहुंचे या उनके मन को दुख पहुंचे। किसी के साथ धोखा न करें। आर्थिक लेन-देन पूरी तरह साफ रखें। Shani Amavasya के दिन किसी तरह का नशा न करें।Shani Amavasya के दिन शनि मंदिर के साथ ही हनुमान मंदिर में दर्शन अवश्य करें। इस दिन हनुमान चालीसा का पाठ शनि से जुड़ी हर समस्या से बचाता है। शास्त्रों में शनि देव और हनुमाजी को एक दूसरे का परम मित्र बताया गया है।