नियमो को ताक पर रखकर पिकअप से डीजल का हो रहा परिवहन

नियमो को ताक पर रखकर पिकअप से डीजल का हो रहा परिवहन

समानता कंपनी के सविंदाकार की मनमानी,पुलिस के संरक्षण की चर्चा

संवाददाता- आशीष पाण्डेय-पंकज तिवारी 

अनोखी आवाज सिंगरौली। चिलचिलाती धुप में खुले सड़कों पर डीजल का परिवहन सुरक्षा की दृष्टि से किसी बड़े चैलेंज से कम नहीं है। एनसीएल परियोजना में कार्य कर रही अधिकांश प्राइवेट कंपनियों में पिकअप से डीजल का परिवहन किया जाता है। ऐसे ही जयंत में समानता कंपनी में प्राइवेट गाड़ियों से डीजल परिवहन किया जा रहा है। डीजल टंकी से सीधे पिकअप में डीजल भरकर लाया जाता है। फिर कंपनी में लगे वाहनों को डीजल भरा जाता है। नियमानुसार ज्वलनशील पदार्थों की परिवहन करने के लिए तय मापदंडों का पालन करना अनिवार्य है। इसके इसके तहत पेट्रोलियम पदार्थों के परिवहन के लिए विशेष टैंकर होने चाहिए लेकिन ऐसा है कुछ नही।

भाजपा नेता की है गाड़ी,पुलिस नही करतीं कार्यवाही 

नियमानुसार जल्वनशील पदार्थों के परिवहन करने के लिए तय मापदंडों का पालन करना अनिवार्य है। इसके तहत पेट्रोलियम पदार्थों के परिवहन के लिए विशेष टैंकर का उपयोग किया जाना चाइये। लेकिन समानता कंपनी में चलने वाली वाहनों में रिफ्यूलिंग के सभी मानकों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। यहां तक की डीजल का परिवहन में उपयोग वाहन का बीमा भी नही है। सूत्र बताते हैं कि डीजल परिवहन के उपयोग में की जा रही पिकअप भाजपा नेता वशिष्ठ पांडे की है। जिससे कार्रवाई करने में पुलिस के भी पसीनें छूट रहें है। लेकिन ऐसे डीजल का परिवहन खतरनाक साबित हो सकता है।

रोबोट बना कंपनी का जीएम ..?

एनसीएल के जयंत परियोजना के सीएचपी का कार्य कर ही समानता कंपनी के चीफ श्री शांति समानता भाजपा नेता के कंट्रोल में है। भाजपा नेता के कहे अनुसार कार्य कर रहें है। ये हम नही बल्कि कंपनी के कर्मचारी ही कह रहे है। एक तरफ सत्ता का रौब तो दूसरी तरफ पुलिस से चकाचक सम्बन्ध के कारण भाजपा नेता श्री पाण्डेय कंपनी के चीफ श्री शांति पर अच्छा कंट्रोल बनाएँ हुए है।