उज्जैन में लगे देश विरोधी नारे, दो दर्जन पर राजद्रोह का केस दर्ज

उज्जैन में लगे देश विरोधी नारे, दो दर्जन पर राजद्रोह का केस दर्ज

 

 

 

 

जीवाजीगंज थाना क्षेत्र के गीता कालोनी में गुरुवार रात को कुछ शरारती तत्वों ने देश विरोधी नारे लगाए। जिस पर भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने दो दर्जन लोगों के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज किया है। इनमें सात लोगों को नामजद आरोपित बनाया है। बताया जा रहा है कि देर रात पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। गीता कालोनी में हुए बवाल के बाद एडीजी योगेश देशमुख, एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल् सहित अन्य अधिकारी खाराकुआं थाने पहुंचे और रात में हुए हंगामे के वीडियो फुटेज खंगाले।

 

 

 

 

 

 

एएसपी अमरेंद्रसिंह ने बताया कि गुरुवार रात को गीता कालोनी स्थित बड़े साहब के यहां वर्ग विशेष के लोग दर्शन करने के लिए पहुंचे थे। वहां सुरक्षा के लिए पुलिस बल तैनात था। भीड़ को देखकर पुलिसकर्मी व्यवस्था बना रहे थे। उसी दौरान वहां करीब दो दर्जन युवाओं ने देश विरोधी नारे लगाना शुरू कर दिए। इनमें पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे भी लगाए गए। बताया जा रहा है कि तालिबान जिंदाबाद के भी नारे लगाए गए। हालांकि पुलिस इससे इंकार कर रही है। हंगामे की सूचना मिलने पर रात को भारी पुलिस फोर्स गीता कालोनी क्षेत्र, खजूर वाली मजिस्द क्षेत्र में तैनात कर दिया गया था।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

शुक्रवार सुबह एडीजी योगेश देशमुख, एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल, एएसपी अमरेंद्रसिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारियों ने खाराकुआं थाने में बैठकर वीडियो फुटेज खंगाले और नारेबाजी करने वाले लोगों की पहचान की। अधिकारियों का कहना है कि नारे लगाने वाले लोगों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

 

 

 

 

 

 

सात लोगों को नामजद बनाया आरोपित

जीवाजीगंज पुलिस ने मामले में जफर उर्फ डैनी आटोवाला, राजू लाइटवाला, अनीस भाई लकड़ी वाला का पुत्र, अजीज भाई लकड़ी वाले का भतीजा, आरून कुरैशी का भांजा, अज्जू, शानू सब्जीमंडी वाला सहित दो दर्जन अन्य लोगों के खिलाफ राजद्रोह की धारा 124 ए, 153 बी, 188 के तहत केस दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने चार आरोपितों को देर रात गिरफ्तार कर लिया था। बाकी अन्य की तलाश की जा रही है।