रीवा एसजीएमएच में फिर हंगामा वार्ड में बिना इलाज मरीज की हो गई मौत

रीवा एसजीएमएच में फिर हंगामा वार्ड में बिना इलाज मरीज की हो गई मौत

 

 

रीवा। संजय गांधी अस्पताल के मेडिसिन वार्ड में मंगलवार को हुई एक वृद्ध की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया है। शाम को 7 बजे से लेकर साढ़े 8 बजे तक हंगामा चलता रहा। इस दौरान एसजीएमएच के सीनियर डॉक्टरों को भी परिजनों द्वारा खरी खोटी सुनाई गई है।

 

 

 

 

 

 

 

 

प्रत्यक्षदर्शयों की माने ते बीच बचाव करने पहुंचे एसजीएमएच के सीएमओ के सामने भी अस्पताल की अव्यवस्थाओं पर प्रबंधन को कोसते रहे। अस्पताल के सुरक्षा कर्मियों द्वारा परिजनों को समझाया जा रहा था परंतु वह अपनी जिद पर अड़े रहे।

 

 

 

 

 

 

 

 

बाद में पुलिस भी पहुंच गई और वह स्थिति बिगड़ने न पाए इस पर ध्यान बनाए रखे। परिजनों द्वारा वरिष्ठ चिकित्सकों पर आरोप लगाया गया कि वह वार्ड में नहीं पहुंचे। जूनियर चिकित्सकों द्वारा मरीन का इलाज किया जाता रहा। यही वजह रही कि मरीज को मौत हुई है। परिजन कलेक्टर के आने की मांग पर अड़े रहे। हालांकि एडीएम एवं नायब तहसीलदार मौके पर पहुंचे, तब जाकर परिजनों द्वारा हंगामा शांत किया गया और शव लेकर वह अस्पताल से रवाना हुए।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

संजय गांधी अस्पताल के मेडिसिन वार्ड में शुक्रवार को परिजनों ने मोतीलाल अग्निहोत्री 90 वर्ष निवासी पड़रा थाना रायपुर लियान को भर्ती कराया था। इसके पूर्व वह डॉ. मनोज इदुलकर को पैर में सूजन होने के चलते दिखाने आए थे। डॉ. इंदुलकर ने भर्ती होने के लिए लिखा था।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

बताया गया है कि मंगलवार की 7 बजे मरीज की मौत हो गई। इसके बाद परिजनों ने हंगामा मचाना शुरू कर दिया। परिजनों द्वारा आरोप लगाया गया है कि भर्ती होने के बाद से मृत्यु दिनांक तक वार्ड में सनियर चिकित्सक नहीं आए, न ही उन्हें प्रापर इलाज दिया गया। जूनियर चिकित्सकों के सहारे मरीज का इलाज चलता रहा। इसी वजह से उनकी मौत हुई है।

 

 

 

 

 

 

 

 

इस दौरान परिजनों द्वारा बताया गया कि मेडिसिन वार्ड में पदस्थ एक नर्स को वे बुलाने गए थे, जहां पर वह मोबाइल में व्यस्त थी और नर्स के द्वारा हमला किए जाने का भी आरोप लगाया गया है।