उपचुनाव: BJP सांसद प्रचार थमने के बाद भी रैगांव में बैठे मिले, आचार संहिता का उल्लंघन करने पर FIR दर्ज

उपचुनाव: BJP सांसद प्रचार थमने के बाद भी रैगांव में बैठे मिले, आचार संहिता का उल्लंघन करने पर FIR दर्ज

 

 

 

सतना. मध्यप्रदेश में उपचुनाव  का प्रचार 27 अक्टूबर को शाम 6 बजे प्रचार थम गया है। लेकिन चुनाव क्षेत्रों में नेता अब भी डेरा डाले हुए हैं। इसको लेकर रैगांव में BJP सांसद और कांग्रेस प्रत्याशी के बीच विवाद हो गया। गुरुवार 28 अक्टूबर को सतना सांसद गणेश सिंह और रैगांव से कांग्रेस प्रत्याशी कल्पना वर्मा  का आमना-सामना हुआ। प्रचार थमने के बाद भी बाहरी सांसद को क्षेत्र में देखकर कल्पना सिंह भड़क गई। उन्होंने सांसद से कहा कि आप उठिए और तत्काल क्षेत्र से बाहर चले जाइए। 30 के बाद आकर आप यहां जलपान कर लेना।

 

 

 

सांसद गणेश सिंह सितपुरा में जनपद सदस्य संजय मिश्रा के घर बैठे थे। उनकी मौजूदगी की जानकारी कांग्रेस  प्रत्याशी कल्पना वर्मा को मिली। इसके बाद वह तुरंत जनपद सदस्य के घर पहुंच गईं। कल्पना ने आचार संहिता के नियमों का हवाला देकर गणेश सिंह से बहस करना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि आप सांसद हैं, ठीक है, लेकिन बाहरी हैं, इसलिए आप यहां से उठिए और क्षेत्र से बाहर चले जाइए, यह मेरा विनम्र निवेदन है। गणेश सिंह ने कहा - आप शिकायत कर दीजिए। वर्मा अपनी बात पर अड़ी रहीं। इसके बाद सांसद वहां से उठकर रवाना हो गए।

 

 

सांसद पर मामला दर्ज

सांसद गणेश सिंह पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। उन पर आचार संहिता का उल्लंघन और निर्वाचन आयोग का आदेश नहीं मानने के कारण अधिनियम 126, धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है। दरअसल रैगांव विधानसभा में चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद भी सांसद वहीं रुके हुए थे। साथ ही वह डोर टू डोर कैंपेन भी कर रहे थे। वहीं, चित्रकूट से कांग्रेस के विधायक नीलांशु चतुर्वेदी ने चेतावनी दी है कि अगर सांसद और भाजपाई ऐसे ही करेंगे तो वे भी हजारों कार्यकर्ताओं के साथ क्षेत्र में घुसेंगे।