छत्तीसगढ़: बेटे की गलती की सजा भुगतेंगे पिता, ट्रैफिक नियम तोड़ने पर दोनों पर हुई कार्रवाई

छत्तीसगढ़: बेटे की गलती की सजा भुगतेंगे पिता, ट्रैफिक नियम तोड़ने पर दोनों पर हुई कार्रवाई

बिलासपुर। ट्रैफिक रूल्स तोड़ने वाले नाबालिग के पिता का भी ट्रैफिक पुलिस ने चालान काट दिया। हालांकि पिता ने पुलिस की कार्रवाई रोकने के लिए तमाम नेता और व्यापारियों को कॉल की पर पुलिस ने एक न सुनी। दरअसल पकड़े गए नाबालिग ने पुलिस को बताया कि वो बालिग है। जब उसका बर्थ सर्टिफिकेट और 10th का सर्टिफिकेट मंगाया गया तो पोल खुल गई। 

 

 

 

 

 

 

ट्रैफिक पुलिस को पुराना बस स्टैंड के पास मंगलवार शाम तेज रफ्तार में बाइक चला रहे नाबालिग को सिविल लाइन प्रभारी एस एक्का ने रोका और उम्र पूछी। पकड़े गए लड़के ने पहले तो खुद को 18 साल से अधिक का बताया। इसपर पुलिस ने उसके बर्थ सर्टिफिकेट और बोर्ड एग्जाम का सर्टिफिकेट मंगाया। सर्टिफिकेट से पता चला कि वह 16 साल का है। इसके बाद पुलिस ने उसके पिता को बुलाया।

 

 

 

 

 

वह आते ही कार्रवाई रोकने के लिए नेताओं और व्यापारियों के कॉल कराते रहे। इधर पुलिस ने उनका भी चालान काट दिया। अब पिता-पुत्र को अदालत में किया जाएगा। पूरे मामले में ट्रैफिक पुलिस ने अदालती कार्रवाई की है। पुलिस का कहना है कि जिले में पहली बार किसी नाबालिग पर बड़ी कार्रवाई हुई है।

 

 

 

 

 

एसपी बिलासपुर दीपक झा ने कहा कि, केंद्र सरकार ने बढ़ते सड़क दुर्घटना को देखते हुए ट्रैफिक नियम में बदलाव किए हैं। इसके तहत 18 साल से कम उम्र के बच्चों को गियर वाली गाड़ी जानबूझ कर देना अपराध की श्रेणी में आता है । इसके लिए 25 हजार जुर्माना और बच्चे का 25 साल की उम्र तक लाइसेंस नहीं बन सकता।