साइबर ठगों ने पुलिस कप्तान को भी नहीं छोड़ा, सतना SP भी हो गए Fraud का शिकार

साइबर ठगों ने पुलिस कप्तान को भी नहीं छोड़ा, सतना SP भी हो गए Fraud का शिकार

Cyber Crime को अंजाम देने वाले अपराधियों के हौंसले इतने बुलंद हैं कि वे IAS एवं IPS अफसरों को भी अपना शिकार बना रहें हैं. जहां लोग ठगी का शिकार होकर पुलिस के पास मदद के लिए जाते हैं, वहीं मध्य प्रदेश के सतना जिले के खुद पुलिस कप्तान भी इसी फ्रॉड (Fraud) का शिकार हो गए. सतना SP के नाम से फेसबुक की फर्जी प्रोफाइल बनाकर परिचित से पैसे मांगने की खबर सामने आ रही है. 

 

 

 

जैसे ही यह बात सोशल मीडिया में फैली तो हड़कंप मच गया. आम फेसबुक यूजर्स का तो यही कहना है कि जब पुलिस कप्तान की खुद प्रोफाइल हैक हो सकती है और वे खुद सुरक्षित नहीं है तो हमें कौन बचाएगा और आरोपियों पर कार्रवाई करेगा. बहरहाल साइबर सेल को पूरे मामले की जानकारी एसपी धर्मवीर सिंह यादव द्वारा उपलब्ध करा दी गई है. साइबर एक्सपर्टो (Cyber Experts) की टीम लगातार आरोपियों को ट्रैस कर रही है.

 

 

 

3 हजार रूपए मांगे

सोशल मीडिया में वायरल हो रहे एसपी की बनी फेक फेसबुक आईडी (Facebook ID) के नाम पर ठग ने सिर्फ 3 हजार रुपए की डिमांड की है. जब यूजर ने पैसे भेजने के लिए एकाउंट नंबर की मांग की तो शातिर ठग ने कहा कि फोन पे करो. ऐसे में आरोपी ने बिना कुछ सोचे समझे डंके की चोंट पर नंबर शेयर कर दिया. हालांकि यूजर एसपी के नाम पर ठग को पैसे दिए अथवा नहीं दिए. इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है.

 

वहीं सूत्रों को दावा है कि साइबर सेल (Cyber Cell) एसपी का नाम आ जाने के बाद से अलर्ट है. वह हर कदम फूंक फूंककर रख रही है. जबकि इस पूरे मामले में एसपी धर्मवीर​ सिंह यादव ने खुद अपने ओरिजनल एकाउंट से पूरे घटना क्रम को बया किया है.