माता-पिता से भूलकर भी ना कहें यह बातें, जानें आजकल के बच्चे क्या गलती कर जाते हैं

माता-पिता से भूलकर भी ना कहें यह बातें, जानें आजकल के बच्चे क्या गलती कर जाते हैं

 

 

 

 

 

 

नई दिल्ली। बच्चे के पैदा होते ही उससे कई रिश्ते जुड़ जाते हैं। जैसे कि माता-पिता, दादा-दादी, नाना-नानी, चाचा-चाची, भाई-बहन और भी ना जाने कितने रिश्ते। लेकिन इस सभी रिश्तों में से सबसे खास रिश्ता माता-पिता के साथ होता है। जिन्दगी में मुश्किल वक्त आने पर सभी साथ छोड़ सकते हैं, लेकिन माता-पिता हर घड़ी साथ खड़े रहते हैं। उनकी जगह जिन्दगी में कभी कोई नहीं ले सकता। उनकी जिंदगी अपने बच्चे के आसपास बसती है और वे अपने बच्चों से सिर्फ प्यार और अच्छे व्यवहार की आशा रखते हैं। लेकिन जैसे-जैसे समय बदला है, वैसे-वैसे आजकल के बच्चों में काफी फर्क देखे जा रहे हैं। दरअसल, आजकल बच्चे अपने माता-पिता को जाने-अनजाने कुछ ऐसी बातें बोल देते हैं, जिन्हें कभी भूलकर भी उन्हें नहीं बोलनी चाहिए। अगर आप माता-पिता से अपना रिश्ता हमेशा अच्छा रखना चाहते हैं, तो उनसे भूलकर भी कुछ बातें कभी न बोलें।

 

 

 

 

 

 

 

आपने हमारे लिए किया ही क्या है

बच्चों को अच्छी राह पर लाने के लिए माता-पिता कई बार डांटते हैं, लेकिन आजकल के बच्चों को ये बात पसंद नहीं आती है। ऐसे में कई बार बच्चे गुस्से में आकर बोल देते हैं कि आपने हमारे लिए किया ही क्या है। बच्चों को समझना चाहिए माता-पिता ने उनको जन्म देने के बाद पढ़ाया, अच्छे संस्कार, अच्छा खानपान, सबकुछ दिया। ऐसे में आप अपने माता-पिता से ये बात कहते हैं तो उन्हें काफी दुख पहुंच सकता है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

काश आपने हमारे लिए ये किया होता

आजकल के बच्चे अपने माता-पिता द्वारा की गई चीजें दूसरे के पैरेंट्स के कामों से जोड़ते हैं। जैसे- अगर पड़ोस में किसी के पास सबकुछ है, पैसे की कमी नहीं है, अच्छा बिजनेस है आदि। लेकिन आपके पास इन चीजों की कमी है। ऐसे में बच्चों को दूसरों से तुलना करते हुए कभी अपने माता-पिता को ये नहीं बोलना चाहिए कि काश आपने हमारे लिए ये किया होता। क्योंकि हर माता-पिता अपने बच्चों को अच्छी जिन्दगी देने के लिए सबकुछ करते हैं, जो उनके बस में होता है। ऐसे में इस बात से आपके पैरेंट्स को बुरा लग सकता है और आपके रिश्ते में खटास तक आ सकती है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

आप नहीं समझ पाएंगे

आजकल बच्चों को कई तरह की टेंशन होती हैं। ऐसे में माता-पिता उनकी इस मनोस्थिति को भाप लेते हैं और उनसे बात करने का प्रयास करते हैं। वह यह जानने की कोशिश करते हैं कि उनके बच्चे की समस्या का कारण क्या है। वह बार-बार बच्चों से पूछते हैं कि आप परेशान क्यों हो। इस पर बच्चे अपने माता-पिता को ये कह देते हैं कि आप दोनों नहीं समझ पाएंगे। लेकिन आपको ये नहीं भूलना चाहिए कि आपके माता-पिता ने दुनिया देखी है और हो सकता है कि उनको आपकी इस बात का बुरा लग जाए।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

जब बच्चा बड़ा होकर, अच्छी शिक्षा लेकर कमाने लगता है। ऐसे में कई बच्चे अपने घर पर माता-पिता को पैसे देने की जगह पर उन्हें खुद पर खर्च करना पसंद करते हैं। वहीं, जब माता-पिता कभी उनसे उनकी सैलरी के बारे में कुछ सवाल पूछते हैं, कि उन्हें कितनी मिलती है, या कब मिलती है। तो बच्चों को लगता है कि माता-पिता उनसे पैसे मांगने वाले हैं। ऐसे में कई बार बच्चे ये बोल देते हैं कि आपकी नजर मेरे पैसों पर है। लेकिन ऐसा कभी भूलकर भी नहीं बोलना चाहिए। माता-पिता के जीवन में उनके बच्चे ही उनका सबकुछ होते हैं। उन्होंने आज तक आप पर जितना पैसा और समय खर्च किया है, आप कभी उनके लिए इतना नहीं कर पाएंगे।