सरकारी डॉक्टर ने बीच सड़क पर चाची और बहन को डंडे से पीटा

सरकारी डॉक्टर ने बीच सड़क पर चाची और बहन को डंडे से पीटा

 

 

 

 

 

विदिशा। मकान खाली करवाने के लिए अपनी चाची और बहन को सड़क पर डंडे से पीटने वाले सरकारी डॉक्टर आशीष जैन, उसके पिता सूरजमल जैन और आशीष के साथ के खिलाफ पुलिस ने FIR दर्ज कर ली है।  डॉ आशीष उत्तरप्रदेश में शासकीय सेवा में हैं।  FIR होने के बाद भी हालाँकि अभी आरोपी पुलिस पकड़ से दूर हैं।

 

 

 

 

 

सड़क पर एक महिला को डण्डे से बेरहमी से पीटते एक युवक का वीडियो सोशल मीडिया पर इस समय तेजी से वायरल है। ये वीडियो है शासकीय चिकित्सक डॉ आशीष जैन का, जो अपनी उम्रदराज चाची पर डंडा बरसा रहे हैं और जब चाची की लड़की यानि डॉक्टर साहब की बहन बीचबचाव के लिए आती है तो वे उसे भी नहीं छोड़ते। डॉ आशीष जैन उसपर भी हमला कर दिया । डॉ आशीष हैं तो मध्यप्रदेश के निवासी लेकिन उत्तरप्रदेश के मथुरा में सरकारी नौकरी करते हैं।

 

 

 

 

 

 

दरअसल ये मामला विदिशा जिले के गंज बासोदा का है। फरियादी पुष्पलता जैन ने पुलिस में लिखाई शिकायत में कहा कि 16 अक्टूबर को दिन में जब वो अपने घर पर बैठी थी तब मेरे घर पर भतीजा डॉ आशीष जैन पिता सूरजमल और एक दोस्त के साथ आया।  ये लोग घर में घुसकर मुझे गालियां देने लगे।  जब मैंने मना किया तो आशीष ने मेरे प्राइवेट पार्ट पर लात मारी और सूरजमल ने लाठी से पीटना शुरू कर दिया। मैं घर के बाहर आई तो आशीष ने मेरी पीठ पर डंडे से वार किया, मेरी बेटी संस्कृति बचाने आई तो उसे भी डंडे से मारा।

 

 

 

 

 

बताया जा रहा है कि डॉ आशीष के पिता सूरजमल अपने परिवार के साथ गंज बासोदा में किराये से रहते थे। ये मकान जिस जमीन पर है वो एक ट्रस्ट की है।  कुछ समय पहले जब सूरजमल गंज बासोदा छोड़कर विदिशा शिफ्ट हुए तो उन्होंने ये मकान छोटे भाई जिनेश जैन को दे दिया। 

 

 

 

 

 

अब ट्रस्ट की जमीन पर जिनेश ने अपना मकान बना लिया इसमें एक दुकान भी है।  सूरजमल और डॉ आशीष जिनेश के परिवार को ये मकान खाली करने का दबाव बना रहे हैं और आये दिन इसलिए मारपीट करते रहते हैं।

 

 

 

 

 

 

16 अक्टूबर को फिर डॉ आशीष ने अपने पिता सूरजमल और एक दोस्त के साथ मारपीट की जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।  पुलिस ने पुष्पलता जैन की शिकायत पर FIR दर्ज कर ली है लेकिन तीनों आरोपी अभी पुलिस गिरफ्त से दूर हैं।