गुजरात - CM न बनाने के सवाल पर भावुक हुए नितिन पटेल, आंखों से आंसू बनकर निकली दिल की बात!

गुजरात -   CM न बनाने के सवाल पर भावुक हुए नितिन पटेल, आंखों से आंसू बनकर निकली दिल की बात!

न्यूज़ डेस्क। गुजरात में विजय रूपाणी के इस्तीफे के बाद बीजेपी ने अब उनकी जगह सीएम के तौर पर पहली बार विधायक बने भूपेंद्र पटेल को चुना है। आज दोपहर 2:20 पर वह सीएम पद की शपथ लेने वाले हैं। इस बीच राज्य के डिप्टी सीएम नितिन पटेल सुबह सीएम पद न मिलने से नाराज होने की बात का जवाब देते हुए भावुक हो गए। उनकी जुंबा कह रही थी कि वे सीएम पद न मिलने से नाराज नहीं हैं, लेकिन दिल की बात आंखों से आंसू बनकर बह निकली। भावुक होते हुए नितिन पटेल ने कहा कि मैं 6 बार का विधायक रह चुका हूं। मेरे लिए जब तक जनता के दिलों में जगह है, तब तक मैं बना रहूंगा।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

नितिन पटेल ने कहा, 'कोई संत, स्वामी या ब्रांड की जब तक जनता के बीच पूछ रहती है, तब तक वह बना रहता है। नितिन पटेल ने कहा कि कोई भी आदमी लोगों का भरोसा जीतकर ही बड़ा हो सकता है। किसी को अपने बगल में रखकर कोई नेता बड़ा नहीं हो सकता है।' उन्होंने कहा कि मैं 6 बार से विधायक रहा हूं और यह जनता का आशीर्वाद ही है। हालांकि यह सब कहते हुए वे भावुक हो गए। उनकी आवाज भर्राने लगी और आंखों से आंसू बह निकले। पटेल ने कहा, 'मैं दुखी नहीं हूं। मैं तब से बीजेपी में काम कर रहा हूं, जब मैं सिर्फ 18 साल का था और करता रहूंगा। भले ही मुझे पार्टी में कोई पोजिशन मिले या फिर न मिले। मैं पार्टी में लोगों की सेवा करता रहूंगा।'

 

 

 

 

 

 

 

 

 

भूपेंद्र पटेल को अपना पुराना और पारिवारिक मित्र बताते हुए नितिन पटेल ने उन्हें बधाई दी। पटेल ने कहा कि भूपेंद्र को शपथ लेते हुए देखने पर मुझे खुशी होगी। उन्होंने जरूरत पड़ने पर मेरा मार्गदर्शन लेने की बात कही है। इससे पहले भूपेंद्र पटेल खुद नितिन पटेल के घर पर सुबह ही मिलने पहुंचे और दिग्गज नेता के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया। दोनों ने मीडिया के सामने आकर बात की और नितिन पटेल नए बने सीएम को दरवाजे तक छोड़ने के लिए भी आए। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

इस बीच नितिन पटेल ने कहा है कि वह एयरपोर्ट पर होम मिनिस्टर अमित शाह को रिसीव करने के लिए पहुंच रहे हैं। भपेंद्र पटेल के शपथ समारोह में अमित शाह पहुंच रहे हैं। कहा जा रहा है कि उनके अलावा मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान भी आने वाले हैं। फिलहाल भूपेंद्र पटेल अकेले ही शपथ लेंगे। उनके अलावा नए मंत्रियों और डिप्टी सीएम के तौर पर कोई फेरबदल होता है तो उन्हें बाद में शपथ दिलाई जाएगी।