15 अगस्त से पहले मनाया जाता है स्वतंत्रता दिवस, जानिए इसके पीछे की वजह- MP NEWS

15 अगस्त से पहले मनाया जाता है स्वतंत्रता दिवस, जानिए इसके पीछे की वजह- MP NEWS

 

 

 

 

मंदसौर: साल 1947 में 15 अगस्त के दिन हमारा देश अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ था. तभी से 15 अगस्त को भारत देश में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है. लेकिन एक जगह ऐसी भी है, जहां इस दिन स्वतंत्रता दिवस नहीं मनाया जाता.यह जगह है मध्य प्रदेश के मंदसौर कै पशुपतिनाथ मंदिर यहां तारीख नहीं बल्कि तिथि के हिसाब से स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है.  

 

 

 

 

8 दिन पहले ही मनाया गया स्वतंत्रता दिवस
पशुपतिनाथ मंदिर में दुर्वा अभिषेक कर परंपरा अनुसार 8 दिन पहले ही स्वतंत्रता दिवस मनाया गया. भक्तों की मानें तो हिंदू पंचांग के अनुसार हमारा देश श्रावण मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी पर आजाद हुआ था. इसलिए यहां पिछले 36 वर्षों से तिथि के अनुसार ही स्वतंत्रता दिवस मनाया जा रहा है.

 

 

 

 

 

भगवान पशुपतिनाथ को करते हैं प्रसन्न
स्वतंत्रा दिवस मनाए जाने के दौरान भगवान पशुपतिनाथ को प्रसन्न करने और पूरे देश की खुशहाली की कामना करते हुए दुर्वा अभिषेक किया जाता है. इस दिन यहां खास पूजा-अर्चना कर खुशियां मनाई जाती हैं.

 

 

 

 

उत्सव की तरह होता है माहौल
भक्तों के अनुसार पिछले 36 सालों से इस दिन मंदिर में खुशी का माहौल होता है.बड़े पर्व की तरह यहां स्वतंत्रता दिवस को मनाया जाता है. इस बार कोविड-19 को देखते हुए केवल पांच पुरोहितों की मौजूदगी में ही यह दिन मनाया गया. उन्होंने यहां अष्टमुखी शिवलिंग का विशेष श्रृंगार कर पूजा की. साथ ही देश की खुशहाली की कामना की.