108 कलशों द्वारा होगा भगवान पार्श्वनाथ का महामस्तकाभिषेक

108 कलशों द्वारा होगा भगवान पार्श्वनाथ का महामस्तकाभिषेक

15 अगस्त को जैन नगर रिवर पार्क बागपत में भगवान के निर्वाण दिवस के अवसर पर चढ़ेगा निर्वाण लडडू

 

 

प्राकृतिक सौन्दर्य के बीच स्थित श्री 1008 चिंतामणि पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर की होती है जनपद के भव्य मन्दिरों में गिनती 

 

बागपत, उत्तर प्रदेश। विवेक जैन

 

 

 

 

 

 

आगामी 15 अगस्त को श्री 1008 चिंतामणि पार्श्वनाथ भगवान का निर्वाण दिवस बागपत के जैन नगर रिवर पार्क स्थित मन्दिर में बड़े ही हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाया जायेगा। प्राकृतिक सौन्दर्य के बीच स्थित श्री 1008 चिंतामणि पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर जनपद बागपत के सबसे सुन्दर मन्दिरों में शुमार है। यहां का प्राकृतिक सौन्दर्य हर किसी को अपनी और आकर्षित करता है। इस मन्दिर परिसर में आयोजित मन्दिर कमेटी की बैठक में निर्णय लिया गया कि कार्यक्रम का प्रारम्भ सवा नौ बजे से होगा। जिसमें श्रद्धालूगणों द्वारा 108 मंगल कलशों से भगवान पार्श्वनाथ का महामस्तकाभिषेक किया जायेगा और निर्वाण लडडू चढ़ाया जायेगा।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

मन्दिर समिति के सदस्य और जैन समाज के प्रसिद्ध विद्धान शिखर चन्द जैन ने बताया कि कार्यक्रम के पश्चात अभिषेक के कलश श्रद्धालुगणों को ही दे दिये जायेंगे। यह कलश मंगल का प्रतीक है, जिन्हें वह अपने घर पर मंगल स्थान पर रख सकते हैं। कहा कि श्रद्धालुगणों द्वारा लिया गया यह मंगल कलश उनके व उनके परिवार के जीवन को सार्थक करने में निश्चित ही सहायक होगा। समिति के अध्यक्ष नगेन्द्र जैन गोयल ने बताया कि कार्यक्रम के पश्चात श्रद्धालुगणों के लिये कार्यक्रम स्थल के पास ही भोजन की व्यवस्था रहेगी। बताया कि मन्दिर पर आने के लिये वाहन की व्यवस्था की गई है। जो कि सरूरपुर गांव से साढ़े आठ बजे, बागपत नगर पालिका गेट से पौने नौ बजे, खेकड़ा बालाजी मंदिर छोटा बाजार से सुबह नौ बजे श्री 1008 चिंतामणि पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर के लिये प्रस्थान करेगी। इस अवसर पर मन्दिर समिति के रवि जैन, पत्रकार विपुल जैन, आलोक कुमार जैन, अनिल जैन, राहुल जैन, प्रदीप जैन, अमित जैन, अजय जैन, लवी जैन, अजेश कुमार जैन, अंकुश जैन, अंकुर जैन आदि उपस्थित थे।