1 दिसंबर से 2 रूपए में मिलेगी माचिस, 14 साल बाद माचिस की कीमतें बढ़ी

1 दिसंबर से 2 रूपए में मिलेगी माचिस, 14 साल बाद माचिस की कीमतें बढ़ी

 

 

 

 

नई दिल्ली:- देश में लगातार सभी वस्तुओं की कीमतों में इजाफा होता रहा है.अब 14 साल बाद माचिस की कीमतें बढ़ी हैं.

 

 

 

अब 14 साल के अंतराल के बाद माचिस की डिब्बी के दाम बढ़ने जा रहे हैं। यह 1 रुपये महंगी होने जा रही है। अगले महीने से माचिस 2 रुपये में मिलेगी। पांच प्रमुख माचिस उद्योग निकायों के प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से 1 दिसंबर से माचिस का एमआरपी 1 रुपये से बढ़ाकर 2 रुपये करने का फैसला लिया है। आखिरी बार माचिस की कीमत में संशोधन 2007 में हुआ था, उस वक्त इसकी कीमत 50 पैसे से बढ़ाकर 1 रुपये की गई थी।

 

 

 

 

 माचिस की कीमतों में इजाफा को लेकर उद्योगपतियों ने कहा है कि कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि हुई है.

 

 

 

निर्माताओं ने कहा कि माचिस बनाने के लिए 14 कच्चे माल की जरूरत होती है। एक किलोग्राम लाल फास्फोरस 425 रुपये से बढ़कर 810 रुपये हो गया है। इसी तरह मोम 58 रुपये से 80 रुपये, बाहरी बॉक्स बोर्ड 36 रुपये से 55 रुपये और भीतरी बॉक्स बोर्ड 32 रुपये से 58 रुपये तक पहुंच गया है।

 

 

कागज, स्प्लिंट्स, पोटेशियम क्लोरेट और सल्फर की कीमत में भी 10 अक्टूबर से वृद्धि हुई है।