छत्तीसगढ़ में बनेगी मॉडल ग्रामीण स्वास्थ्य रिसर्च यूनिट, ICMR और CGMSC के बीच MOU हुआ साइन

छत्तीसगढ़ में बनेगी मॉडल ग्रामीण स्वास्थ्य रिसर्च यूनिट,  ICMR और CGMSC के बीच MOU हुआ साइन

 

 

 

 

 

रायपुर। आईसीएमआर और सीजीएमएससी के बीच गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के निवास कार्यालय पर एक एमओयू साइन हुआ है. 2 करोड़ की राशि से निर्मित होने वाली यह छत्तीसगढ़ मॉडल ग्रामीण स्वास्थ्य रिसर्च यूनिट बिल्डिंग मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के विधानसभा क्षेत्र पाटन के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्थापित होगी. तकरीबन 11 हजार वर्गफीट पर उसका निर्माण करेगा.

 

 

 

 

 

 

 

एमओयू पर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि आने वाले समय में सिकलसेल, सुपेबेड़ा क्षेत्र की किडनी सम्बन्धी बीमारी व अन्य लुप्त बीमारियों के इलाज के लिए अनुसंधान के जरिए मदद मिलेगी. ग्रामीण क्षेत्रों में बीमारियों का उपचार ठीक से नहीं हो पाता उनके उपचार के लिए आईसीएमआर और सीजीएमआई के माध्यम से एमओयू हुआ.

 

 

 

 

ऐसी बीमारियां जिसकी जानकारी नहीं है, उन बीमारियों को चिन्हांकित कर बेहतर व्यवस्था कराई जाएगी. सुपेबेड़ा जैसी परिस्थितियों से निपटने की कोशिश होगी. कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में झाड़ फूंक के जरिए उपचार कराया जाता है. उस तरह की बीमारियों की पहचान भी होगी. रिसर्च के जरिए उन बातों के तह तक जाएंगे कि बीमारी का कारण क्या है.