भू अभिलेखों की शुद्धिकरण के लिए दो दिवसीय ग्राम सभाओं का आयोजन, दिखा लोगों में उत्साह

भू अभिलेखों की शुद्धिकरण के लिए दो दिवसीय ग्राम सभाओं का आयोजन, दिखा लोगों में उत्साह

 

 

 

 

 

 

वैढ़न,सिंगरौली। सिंगरौली जिले में भू अभिलेख शुद्धिकरण के लिए 13 एवं 14 अक्टूबर को दो दिवसीय जिले के प्रत्येक ग्रामों में ग्राम सभाओं का विशेष आयोजन कर हल्का पटवारियों के द्वारा बी-1 का वाचन कर फौती नामांतरण, बटंवारा एवं अभिलेखों में हुई त्रुटियों में शुद्धि करण हेतु आवेदन प्राप्त किये जा रहें हैं।

 

 

 

 

 

 

आज प्रथम दिवस के ग्राम सभा के दौरान जिले के कुल 307 ग्रामों में संबंधित क्षेत्रों के हल्का पटवारियों के द्वारा बी-1 का वाचन किया गया। तथा समाचार जारी करने तक लगभग 3 हजार आवेदन फौती नामांतरण के चिन्हित किये गये हैं जिसके तहत चितरंगी उपखण्ड क्षेत्रांतर्गत 90 ग्रामों में वाचन की कार्यवाही पूर्ण की गई.

 

 

 

 

 

 

जिसमें 581 फौती नामांतरण चिन्हित किये गये वहीें देवसर उपखण्ड क्षेत्रांतर्गत 75 ग्रामों में बी 1 का वाचन किया गया जिसमें 221 आवेदन वहीं सरई तहसील अंतर्गत 40 ग्रामों में वाचन किया गया जिसमें 687 आवेदन सिंगरौली ग्रामीण क्षेत्रांतर्गत 36 ग्रामो में वाचन की कार्यवाही की गई जिसमें 397 आवेदन प्राप्त हुए माड़ा क्षेत्रांतर्गत 54 ग्रामों में बी 1 का वाचन किया गया जिसमें 223 आवेदन प्राप्त हुए वहीं नगरीय क्षेत्र के 28 ग्रामों में बी 1 का वाचन किया गया 432 फौती नामांतरण के आवेदन चिन्हित किये गयें।

 

 

 

 

 

 

विदित हो कि आज प्रात: से ही जहॉ भू अभिलेख शुद्धिकरण के लिए आमजनमानस में एक उत्साह का महौल निर्मित रहा वही अपर कलेक्टर डी पी वर्मन, संयुक्त कलेक्टर बी पी पाण्डेय, एवं विकास सिंह सहित एसडीएम सिंगरौली ऋषि पावर, देवसर आकाश सिंह, चितरंगी नीलेश शर्मा एवं माड़ा संपदा सर्राफ, सहित शहरी क्षेत्र के तहसीलदार जितेन्द्र वर्मा, जहन्वी शुक्ला, दिवाकर सिंह, दिव्या सिंह, देवसर बंशराखन सिंह, माड़ा सुमित गुप्ता सहित अपने – अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर ग्राम सभा में बी 1 के वाचन समय उपस्थित रहें एवं भू अभिलेख शुद्धिकरण के बारें में आम नागरिकों को अवगत कराया गया ।

 

 

 

 

 

अपर कलेक्टर डीपी वर्मन ने जानकारी देते हुए बताया कि ऐसे पटवारी जिन्हें सूचना प्राप्त भी अपने हल्का में बी 1 का वाचन करने नही गयें है उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी।