Wednesday, February 8, 2023
Homeसरकारी योजनाएPMUY: केंद्र सरकार ने शुरू ये योजना, LPG सिलेंडर यूज करने वालों...

PMUY: केंद्र सरकार ने शुरू ये योजना, LPG सिलेंडर यूज करने वालों को होगा लाभ, जानिए क्या है पूरी खबर?

LPG Connection Price: केंद्र सरकार ने गरीबों और जरूरतमंद नागरिकों को लाभ देने के लिए कई सारी योजनाएं चलाई हुई है। सरकार की इन योजनाओं के तहत गरीबों को फ्री राशन (Free Ration) का लाभ मिल रहा है। अब सरकार गरीबों को फ्री एलपीजी कनेक्शन भी दे रही है, जिसके लिए सरकार ने एक योजना भी शुरू की है, जिसका नाम प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) है। सरकार ने इस योजना की शुरुआत मई 2016 में की थी। ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ (PMUY) पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय की एक प्रमुख योजना है। 

PMUY
PMUY

Electric Motorcycle: नए साल में लॉन्च होगी सस्ती इलेक्ट्रिक बाइक, सिंगल चार्ज पर देगी 135 किमी की रेंज, जानें क्या होंगे फीचर्स

क्या है प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का उद्देश्य  


प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का उद्देश्य देश के ग्रामीण और वंचित परिवारों को रसोई गैस जैसे स्वच्छ खाना पकाने का ईंधन उपलब्ध कराना है।  ग्रामीण महिलाओं के स्वास्थ्य और पर्यावरण पर भी ईंधन जैसे जलाऊ लकड़ी, कोयला, गोबर के उपले के प्रयोग से हानिकारक प्रभाव पड़ता है।  

PMUY
PMUY

PMUY: एलपीजी कनेक्शन  


प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन (LPG Connection) फ्री में उपलब्ध कराया जाता है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय की इस योजना के तहत प्रत्येक कनेक्शन के लिए नागरिक गैस स्टोव खरीदने और सिलेंडर को फिर से भरने के लिए ब्याज मुक्त लोन हासिल करने के भी पात्र है और एलपीजी कनेक्शन का प्रशासनिक खर्च सरकार ही उठाती है।  

Upcoming Electric Cars: 20 हजार में नए साल में आ रही 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कार,जाने फीचर्स और कीमत

क्या होनी चाहिए  योग्यता 


 – पीएम उज्ज्वला योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को भारत का नागरिक होना चाहिए।  
– लाभार्थी की आयु 18 वर्ष से ज्यादा होनी चाहिए।  
– नागरिक का नाम बीपीएल परिवार की लिस्ट में होना चाहिए।  
– सरकार की अन्य योजनाओं के अंतर्गत नागरिक अन्य किसी योजना का लाभ ना ले रहा हो। 

– एससी/एसटी परिवारों, पीएमएवाई (ग्रामीण), एएवाई, अति पिछड़ा वर्ग (एमबीसी), वनवासियों, River Islands में रहने वाले लोगों या चाय और पूर्व-चाय बागान जनजातियों के तहत एसईसीसी 2011 या बीपीएल परिवारों की सूची में लाभार्थियों का नाम शामिल होना चाहिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments