सिंगरौली: आबकारी विभाग के नियंत्रण से बाहर होते जा रहा बैढ़न का शराब ठेकेदार

सिंगरौली: आबकारी विभाग के नियंत्रण से बाहर होते जा रहा बैढ़न का शराब ठेकेदार

 

जगह-जगह बिक रही शराब,कौन लगाएगा नियंत्रण..?

 

अनोखी आवाज़ सिंगरौली। बैढ़न शराब दुकान का ठेकेदार आबकारी अमले के नियंत्रण से बाहर हो गया है। जी हां यदि थोड़ा भी नियंत्रण होता तो शायद अवैध शराब की बिक्री ना होती। बताया जा रहा है कि ठेकेदार के इशारे पर कई जगह देशी-विदेशी शराब बेखौफ होकर बेची जा रही है। सूत्र बताते हैं कि इस बात की जानकारी बखूबी आबकारी अमले को है लेकिन समय-समय पर हो रही खातेदारी के कारण विभाग भी धृतराष्ट्र की भूमिका में है। ज्ञात हो कि बीते दिवस शासन में अवैध देसी शराब के साथ लल्ला साकेत को दबोचा गया था। सूत्र बताते हैं कि यह शराब बैढ़न दुकान से जा रही थी लेकिन एक व्यक्ति ने पीछाकर उक्त विषय के बारे में पुलिस को अवगत करा दिया लिहाजा मौके पर पहुंची पुलिस भी क्या करती कार्यवाही करना पड़ा।

 

कामधेनु एसोसिएट की मनमानी

जब से बैढ़न में कामधेनु एसोसिएट को ठेका मिला तब से मनमानी का दौर शुरू हुआ है। इसके पहले भी शराब बिकती थी लेकिन नजारा इस तरह का नहीं था। लेकिन सूत्रो की मानें तो इन दिनों ज्यादा मुनाफे के चक्कर में शराब ठेकेदार द्वारा एजेंट रखकर गांव-गांव शराब पहुंचाई जा रही है इतना ही नहीं जानकार तो यहां तक भी बताते हैं कि पुलिस और आबकारी से सुरक्षा की जिम्मेदारी भी ठेकेदार लेता है जिस कारण गांव के एजेंट बेखौफ होकर अपने कार्य को अंजाम देते हैं।

 

कौन करेगा कार्यवाही..?

कामधेनु एसोसिएट की मनमानी पर आखिर अंकुश कौन लगाएगा..? ऐसा इसलिए क्योंकि लोग बताते हैं कि अवैध शराब बिक्री की जानकारी से हम लोग आबकारी अमले को अवगत कराते हैं आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिलता। लिहाजा अब कोई शिकायत भी नहीं करता अब देखना यह होगा कि आखिर क्या खबर के बाद कुंभकरणय निद्रा में सोया आबकारी अमला उठता है या यूं ही पर्दे के पीछे से संरक्षण देता रहता है..?