सिंगरौली- निर्माणाधीन सड़क से गुजरने में मुसाफिरों की फजीहत,NTPC गेट खुलवाने की उठी मांग

सिंगरौली- निर्माणाधीन सड़क से गुजरने में मुसाफिरों की फजीहत,NTPC गेट खुलवाने की उठी मांग

मंडल महामंत्री ने  पत्र लिखकर जिम्मेदारों को कराया अवगत,कहा हो सकती है बड़ी दुर्घटना

 

 

पिपरालाल से बनौली चौक तक हो रहा सड़क का निर्माण,सड़क पर खड़े रहते है वाहन

 

 

 

संवाददाता- आशीष पाण्डेय, पंकज तिवारी
 
अनोखी आवाज सिंगरौली। नगर निगम के अधिकतर वार्ड व स्मार्ट सिटी योजना के तहत बनी सड़कों का क्या खस्ताहाल किसी से छिपा नहीं है। 
सड़कों के खस्ताहाल मद्देनजर दूधिचुआ पिपरालाल से बनौली चौक  नवजीवन बिहार तक सड़क के चौड़ीकरण का कार्य प्रगति पर है। सड़कों के मरम्मत कार्य के लिए उपयोग सामग्री( गिट्टी, रेत सिमेंट) मशीनरी सड़क पर ही रहते हैं। जिससे लोगो को आवागमन में समस्या हो रही है। हजारों की संख्या में लोग रोजाना उसी मार्ग से सफर करते हैं। इसी समस्या को देखते हुए भाजपा मंडल जयंत के महामंत्री आशीष वैश्य ने जिला प्रशासन को पत्र लिखकर मांग की है कि सड़क निर्माण तक पिपरालाल समीप से विंध्यनगर जाने वाले एनटीपीसी गेट को खोला जाए। जिससे आम राहगीरों को मुसीबत का सामना न करना पड़े।





 

रात्रि में आवागमन होता है बाधित,दुर्घटना की आशंका 

 


पिपरा लाल से बनौली तक सड़क मरम्मत व चौड़ीकरण का कार्य प्रगति पर है। सड़क मरम्मत व चौड़ीकरण के  करने सिंगल-वे होने के कारण अवागमन में समस्या हो रही है। सड़कों में बिछी गिट्टी से धूल उड़ने के कारण दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। रात्रि में तो बड़े वाहनों की एंट्री से जाम की स्थिति भी निर्मित हो जाती है। आमजनमानस की समस्या को देखते हुएं मंडल जयंत के महामंत्री आशीष वैश्य ने जिला प्रशासन व एनटीपीसी प्रबंधक से पिपरालाल के समीप से विंध्यनगर जानें वाले गेट को खोले जाने की मांग की है। जिससे लोगो की आवागमन व्यवस्था सुदृर्ण हो और सड़क सुरक्षा भी  बनें रहें और निर्माण कार्य बेहतर तरीके से हो।

 

 

 

 


आम राहगीरों ने उठाई आवाज़,खुले NTPC गेट

 

 

सड़क में आवागमन के साथ मरम्मत कार्य भी अत्यंत आवश्यक है। जिससे निर्माण कार्य बिना रोक के गुणवत्ता के साथ हो। लोगो का आवागमन भी बना रहें है

 

 

 

सड़क सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए जब महामंत्री ने मुद्दा उठाया तो दर्जनों लोगों ने सहमति जताई है। और कहा की सड़क निर्माण तक एनटीपीसी गेट को खोला जाएं। अब देखना यह होगा कि प्रशासन इस विषय की गंभीरता से लेता है और कब तक में आम लोगों की समस्या को देखते हुए एनटीपीसी का गेट खुलवाया जाता है।