Singrauli : 75 लाख के एल्युमीनियम चोरी का खुला राज, तीन आरोपी पकड़ाये

Singrauli : 75 लाख के एल्युमीनियम चोरी का खुला राज, तीन आरोपी पकड़ाये

 

 

सिंगरौली। विगत दिवस हिंडालको बरगवां प्लांट से पुणे के लिये भेजे गये करोड़ों रुपये के एल्युमीनियम को रास्ते में ठिकाने लगा दिया गया था। छः दिनों से निकला ट्रक पुणे गंतव्य नहीं पहुंचा तो हिंडालको के अधिकारियों ने तलाश शुरू की लेकिन ट्रक का कहीं भी लोकेशन नहीं मिल रहा था। इस संबंध में बरगवां थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई। जहां सिंगरौली जिले बरगवां ने पुलिस ने तलाश शुरू की और छततीसगढ़ से तीन आरोपियों को चोरी गये एल्युमीनियम के साथ गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की कार्रवाई के बाद कोरिया के कबाड़ माफियाओं में हड़कम्प मच गया है।

 

 

 

 

मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि 9 जून को हिंडालको महान एल्युमीनियम प्लांट बरगवां से वेस्टर्न मेटल इंडस्टीज पुणे के लिये भेजा गया 30 टन 62 किलो एल्युमीनियम की सिल्लियां चोरी हो गई थीं। जिसकी कीमत लगभग 75 लाख रुपये बताई गई थी। चोरी के मामले का खुलासा उस समय हुआ जब ट्रक का लोकेशन मिलना बंद हो गया जिसके बाद शंका हुई। इसके बाद हिंडालको महान में कार्यरत इंडो आर्य सेंटल ट्रांसपोर्ट के ट्रैफिक इंचार्ज ने मामले की रिपोर्ट बरगवां थाने में दर्ज कराई।

 

 

 

 

बताया गया कि पुणे के लिये 6 दिनों से निकला ट्रक क्रमांक यूपी 44 एटी 4204 वहां नहीं पहुंचा।
बताया गया है कि एल्युमीनियम के चोरी जाने की आशंका होने पर सिंगरौली एसपी वीरेंद्र कुमार सिंह के निर्देशन में अज्ञात लोगों के विरुद्ध मामला पंजीबद्ध कर विवेचना शुरू की गई। इसके बाद एसडीओपी राजीव पाठक के मार्गदर्शन में पुलिस टीम का गठन कर ट्रक की तलाश के लिये भेजा गया। पुलिस ने ट्रक का लोकेशन ट्रेस करते हुए छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ पहुंच गई। जहां एक व्यवसाई के गोदाम से चोरी गया एल्युमीनियम के साथ आरोपियों को धर दबोचा।

 

 

 

 

पुलिस ने बताया कि ट्रक मालिक और चालक ने मिलकर छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में कबाड़ व्यवसाई को 25 लाख रुपये में बेंच दिया था। आरोपी संदीप सिंह, सुभाषचंद्र पाण्डेय एवं लाल सिंह को साजिश के तहत 75 लाख की एल्युमीनियर सिल्लियों को 25 लाख रुपये में बेचा था। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।