UP - वाराणसी को मिला रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का तोहफा, काशी की डगर से पूर्वांचल पर नजर

UP - वाराणसी को मिला रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का तोहफा, काशी की डगर से पूर्वांचल पर नजर

वाराणसी.आज प्रधानमंत्री ने अपने संसदीय क्षेत्र काशी से यूपी मिशन का आगाज कर दिया है। साथ ही  यह संदेश भी दे दिया है कि पूर्वांचल और काशी का विकास केवल भाजपा ही कर सकती है। इसलिए आठ महीने बाद हुई उनके आज की दौरे की काफी अहमियत है। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करके यह साफ कर दिया कि भाजपा अगला चुनाव योगी के नेतृत्व में ही लड़ेगी। 

प्रधानमंत्री मोदी ने बटन दबाकर 1475 करोड़ से ज्यादा की सौगात लोगों को दी। इसके अलावा जापान और भारत की दोस्ती के प्रतीक रुद्राक्ष कंवेंशन सेंटर का पीएम मोदी ने उद्घाटन कर दिया है।

 

 

 

 

 

काशी तो साक्षात् शिव ही है: मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि काशी तो साक्षात् शिव ही है। अब जब पिछले 7 सालों में इतनी सारी विकास परियोजनाओं से काशी का श्रंगार हो रहा है, तो ये श्रंगार बिना रुद्राक्ष के कैसे पूरा हो सकता था? अब जब ये रुद्राक्ष काशी ने धारण कर लिया है, तो काशी का विकास और ज्यादा चमकेगा, और ज्यादा काशी की शोभा बढ़ेगी।

 

 

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि इन योजनाओं से काशी और पूर्वांचल के लोगों की जिंदगी और ज्यादा आसान हो सकेगी.  जाहिर है काशी को मिली 1500 करोड़ की परियोजनाओं का असर क्षेत्र के विकास पर पड़ेगा और बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलेगा। माना जा रहा है कि इससे भाजपा को 2022 के विधानसभा चुनाव के साथ-साथ लोकसभा चुनाव पर भी पड़ेगा। भाजपा का लक्ष्य इन विकास परियोजनाओं को भुनाकर आने वाले चुनावों में पूर्वांचल में अपनी स्थिति और संगठन को मजबूत करना है। 

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले 6-7 वर्षों में बनारस के हैंडीक्राफ्ट और शिल्प को मजबूत करने की दिशा में काफी काम हुआ है। इससे बनारसी सिल्क और बनारसी शिल्प को फिर से नई पहचान मिल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चाहे सामरिक एरिया हो या आर्थिक एरिया, जापान आज भारत के सबसे विश्वसनीय दोस्तों में से एक है। हमारी दोस्ती को इस पूरे क्षेत्र की सबसे प्राकृतिक भागीदारी में से एक माना जाता है। भारत और जापान की सोच है कि हमारा विकास हमारे उल्लास के साथ जुड़ा होना चाहिए। ये विकास सर्वमुखी होना चाहिए, सबके लिए होना चाहिए, और सबको जोड़ने वाला होना चाहिए।

 

 

 

 

बनारस का मिजाज पहले जैसा ही

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना काल में जब दुनिया ठहर सी गई, तब काशी संयमित तो हुई, अनुशासित भी हुई, लेकिन सृजन और विकास की धारा अविरल बहती रही। काशी के विकास के ये आयाम, ये ‘इंटरनेशनल को-ऑपरेशन एंड कन्वेंशन सेंटर- रुद्राक्ष’ आज इसी रचनात्मकता का इसी गतिशीलता का परिणाम है। पीएम मोदी ने कहा कि अभी अपने पिछले कार्यक्रम में मैंने काशीवासियों से कहा था कि इस बार काफी लंबे समय के बाद आपके बीच आने का सौभाग्य मिला। लेकिन बनारस का मिजाज ऐसा है कि अरसा भले ही लंबा हो जाए, परंतु ये शहर जब मिलता है तो भरपूर रस एक साथ ही भरकर दे देता है।