Sunday, January 29, 2023
Homeलाइफस्टाइलExcercise क्यों बन रही मौत की वजह? वर्कआउट ने ली सिद्धांत वीर...

Excercise क्यों बन रही मौत की वजह? वर्कआउट ने ली सिद्धांत वीर सूर्यवंशी की जान,जाने पूरी खबर

Excercise: अभिनेता सिद्धांत वीर सूर्यवंशी के निधन की खबर से हर कोई हैरान है. डॉक्टरों की सलाह है कि जिम में एक्सरसाइज करते समय सावधानी बरतें. इस बात का ध्यान भी रखें कि कभी भी अचानक से हैवी वर्कआउट शुरू न करें

Excercise टेलीविजन इंडस्ट्री के अभिनेता सिद्धांत वीर सूर्यवंशी का निधन हो गया है. जिम में एक्सरसाइज करने के दौरान उन्हें तबीयत बिगड़ गई थी. जिसके बाद उन्हें अस्पताल लेकर जाया गया. लेकिन काफी कोशिशों के बावजूद भी उनकी जान नहीं बचाई जा सकी. सिद्धांत के इस आकस्मिक निधन से हर कोई हैरान है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, उन्हें एक्सरसाइज के दौरान हार्ट अटैक आया था. यह ऐसा कोई पहला मामला नहीं है, जहां एक्सरसाइज करते समय दिल का दौरा पड़ा है.

age news in Hindi, latest age news in Hindi, Hindi news about age, age  pictures, Images and video,age breaking news - Web Khabristan
excercise

Excercise इससे पहले मशहूर हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव को भी ट्रेडमिल पर दौड़ते समय हार्ट अटैक आया था. लंबे इलाज के बाद उनका दिल्ली एम्स में निधन हो गया था. बीते कुछ महीनों में ऐसे और भी कई केस आए हैं, जहां जिम में वर्कआउट करते समय या फिर डांस के दौरान हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट से मौत हुई है, लेकिन ऐसा क्यों हो रहा है? क्या हार्ट डिजीज और एक्सरसाइज का कोई संबंध है? आइए जानते हैं कि इस बारे में एक्सपर्ट्स का क्या कहना है.

excercise
excercise

Excercise राजीव गांधी हॉस्पिटल के कार्डियोलॉडिस्ट डॉ. अजित कुमार बताते हैं कि कोविड महामारी के बार हार्ट काफी कमजोर हुआ है. ऐसी रिसर्च में आ चुकी है कि वायरस के दिल के कुछ फंक्शन पर असर पड़ा है. चूंकि अधिकतर लोग कोविड से संक्रमित हुए थे. ऐसे में दिल भी कमजोर हो गया है. डॉ कुमार कहते हैं कि अगर कोई व्यक्ति जिम में अपनी क्षमता से ज्यादा वर्कआउट करता है, तो मांसपेशियों में तनाव आ जाता है. चूंकि दिल पहले से ही कमजोर हो चुका है.

ऐसे में अचानक ज्यादा वजन उठाने से हार्ट वॉल्व पर असर पड़ जाता है. जिससे अटैक आने का खतरा रहता है, लेकिन ये अधिकतर उन मामलों में होता है जिनमें हार्ट में पहले से ब्लॉकेज या फिर ब्लड क्लॉट होता है. कई बार इस परेशानी का कोई लक्षण नहीं दिखता है. ऐसे में मरीज हार्ट की जांच नहीं कराते हैं और अचानक किसी दिन वर्कआउट के दौरान दिल का दौरा पड़ जाता है.

Excercise: हार्ट की जांच हर 6 महीने में कराएं

डॉक्टर चिन्मय गुप्ता बताते हैं कि सभी युवाओं को भी अब हर 6 महीने में हार्ट की करानी चाहिए. क्योंकि बाहर से फिट दिखने का मतलब ये नहीं है कि हार्ट में कोई बीमारी नहीं होगी. इसलिए टेस्ट कराना जरूरी है. इससे आपको बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल या फिर हार्ट आर्टरीज में हुए किसी ब्लॉकेज का आसानी से पता चल जाएगा. अगर दिल में कोई बीमारी होती तो फिर एक्सरसाइज करते समय सावधानी बरतेंगे और अटैक आने की आशंका कम रहेगी.

IND Vs ENG : टी-20 वर्ल्ड कप में India की शर्मनाक हार, इंग्लैंड ने 10 विकेट से रौंदा

PM Modi आज बेंगलुरु में केम्‍पागोडा अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल-2 का उद्घाटन करेंगे

डॉ, गुप्ता का कहना है कि जिम में एक्सरसाइज करते समय सावधानी बरतनी चाहिए. इस बात का ध्यान रखें कि कभी भी अचानक से हैवी वर्कआउट शुरू न करें. इस बात का भी ध्यान रखें कि कोई एक्सरसाइज आप बहुत देर या घंटों तक तो नहीं कर रहे हैं. कोशिश करें कि ट्रेडमिल पर 20 मिनट से अधिक समय तक ना दौड़ें और डॉक्टर की सलाह के हिसाब से ही वर्कआउट करें.

बचाव के लिए क्या करें

खानपान का ध्यान रखें

अपने लाइफस्टाइल को ठीक करें

डाइट में फैट की मात्रा कम करें

धूम्रपान और शराब का सेवन न करें

बॉडी बनाने के लिए स्टेरॉयड न लें.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments