Thursday, February 9, 2023
Homeलाइफस्टाइलमहिलाओं को Periods के समय मिल सकती है Leave, Supreme Court में...

महिलाओं को Periods के समय मिल सकती है Leave, Supreme Court में दाखिल की गई याचिका

Periods Leave: भारत में मैटरनिटी लीव तो मिलती है लेकिन पीरियड्स के लिए कोई छुट्टी नहीं मिलती। जबकि सच तो ये है कि पीरियड्स के समय महिलाओं को इतना ज्यादा दर्द होता है जितना किसी को हार्ट अटैक आने पर होता है। ऐसा हम नहीं कह रहे ये बात कई स्टडीज में पाई गई है। हो सकता है भविष्य में महिलाओं को पीरियड्स के दौरान अवकास मिल सके। जी हां 10 जनवरी 2023 दिन मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में महिलाओं के मासिक धर्म यानी पीरियड्स टाइम पर होने वाले दर्द के कारण छुट्टियां मिलें इसके लिए एक याचिका दाखिल की गई है।

 periods
periods

किसने दाखिल की याचिका

periods: बता दें कि यह याचिका वकील शैलेंद्र मणि त्रिपाठी द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दाखिल कराई गई है। इस याचिका में मातृत्व लाभ अधिनियम 1961 की धारा 14 को प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश दिए जाने की भी मांग की गई है। इस याचिका के मुताबिक बिहार ही एकमात्र ऐसा राज्य है जो 1992 की नीति के तहत विशेष मासिक धर्म यानी पीरियड्स के समय छुट्टियां देता है। पिछले कुछ समय में कुछ राज्यों ने महीने में 2 दिन की छुट्टी का प्रावधान बनाया है।

भारत की ये कंपनियां देती हैं periods Leave

इस याचिका में बताया गया है कि भारत की कुछ कंपनियां ऐसी हैं जो पीरियड्स लीव देती हैं। ये कंपनियां इविपनन, स्विगी, जोमेटो, बायजुस, मैग्टर, मातृभूमि, एआरसी, फ्लाईमायबिज, गूजूप और इंडस्ट्री हैं।

Maruti Suzuki लांच करेगी, प्रीमियम फीचर्स वाली 7 सीटर कार, कातिलाना लुक के साथ तगड़ा माइलेज, देखिये क्या होगी कीमत

महिलाओं के साथ हो समान व्यवहार

यह तो सभी जानते हैं कि भारत के सभी राज्यों में पीरियड्स लीव को लेकर अलग अलग व्यवहार किया जाता है। भारत की महिलाओं के पास भी भारतीय नागरिकता है तो सबके साथ समान व्यवहार होना चाहिए।

Face pack : अगर आपकी त्वचा डल होने लगी है तो आजमाएं ये फेस पैक

Why Female Get Periods| पीरियड्स क्या होते हैं| Period Se Jude Facts
periods

शशि थरूर ने मेंस्ट्रूला राइट्स बिल किया था पेश

इस याचिका में यह भी कहा गया है कि साल 2018 में शशि थरूर ने वूमेंस सेक्सुअल रिप्रोडक्टिव एंड मेंस्ट्रूअल राइट्स बिल पेश किया था। इस बिल में कहा गया था कि पब्लिक अथॉरिटी महिलाओं को फ्री में सैनिटरी पैड दे।

इन देशों में महिलाओं को मिलती है पीरियड्स लीव

इस याचिका में वकील शैलेंद्र मणि त्रिपाठी ने यह भी लिखा है कि कुछ ऐसे देश हैं जहां पीरियड्स लीव मिलती है। ये देश जांबिया, स्पेन, इंडोनेशिया, साउथ कोरिया, ताइवान, जापान, चीन, वेल्स और यूके शामिल हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments